Saturday, May 19, 2012

शोगाक्को ....4..क्युशोकू

लंच 
















  क्या देखा ...
पाठशाला के बच्चे 
इकट्ठे 
खाना खाते हुए 
और 
कितनी सफाई से मिलता है खाना 
खाना खाने के बाद 
कक्षा को साफ़ भी करते हैं 
जल्दी जल्दी 
ताकि पदाई  न ख़राब हो 
और कक्षा भी साफ़ हो 
हर विद्यार्थी घर से ही सफाई का कपडा 
साथ लेकर जाता है 
सफाई के बाद 
सब अपने अपने कपडे को 
जल्दी से धो कर सूखने दाल देते हैं 
क्यों की 
छुट्टी के बाद भी तो कक्षा साफ़ करनी होती है 
अपने अपने कपडे पर  सब का 
नाम भी लिखा होता है
लड़ाई भी करते हैं ये 
लेकिन दोस्ती भी बहुत प्यारी करते हैं 
 


8 comments:

  1. अच्छी जानकारी दी आपने,धन्यवाद्.
    --रीता

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद रीता जी

      Delete
  2. बहुत बढ़िया ........मैं हमारे देश को कमतर नहीं कहूँगी पर यहाँ अभी अशिक्षा के कारण जागरूकता कम है

    ReplyDelete
    Replies
    1. उपासना सखी अगर हमारे देश के बच्चे स्कूल को अपना घर समझे और अपनी जिम्मेवारी तो क्या बात है ....

      Delete
  3. बहुत अच्छा है ......कोई तुलना नहीं कर सकते ..
    हमारे यहाँ कई बात अलग हैं ........

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही कहा अरुणा सखी ...

      Delete
  4. एकदम अलग व्‍यवस्‍था है...
    और जानने की इच्‍छा है...

    ReplyDelete
    Replies
    1. मैं पूरी कोशिश करुँगी अधिक से अधिक जानकारी देने की .......अभी तो शुरुआत है .....स्कूल के बारे में ...बहुत सी आश्चेर्यजनक बाते आप को पता चलेलेंगी .....हार्दिक धन्यवाद स्वर्न्कानता जी ......

      Delete